पेड़ का दानव हिंदी स्टोरी | Ped Ka Daanav Story | राक्षस की कहानी


Rakshas-Ki-Kahani-Ped-Ka-Danav-Story-Hindi-new-horror-story-in-hindi-2021
Rakshas Ki Kahani Ped Ka Danav

Rakshas Ki Kahani: Ped Ka Danav Hindi Story
राक्षस की कहानी: पेड़ का दानव हिंदी स्टोरी

ह एक लड़की के साथ घटी हुई घटना है, यह बहुत समय पहले, लगभग बीस या तीस साल पहले घटी थी। मेरे पिता जी ने मुझे यह कहानी सुनाई और उन्होंने मुझे बताया कि यह वास्तव में हुआ था। यह लड़की मेरे पिताजी या, हमारे घर के किसी परिवार से सम्बंधित नही है, लेकिन हाँ वह हमारे पड़ोस में रहती थी। हमलोगों ने इस कहानी को कई बार अपने घर या आसपास के लोगो से सुना है। इस लड़की का नाम हिया है।


करीब तीस साल पहले की बात है, हिया उस समय लगभग बारह-तेरह वर्ष की थी। वह बिलकुल एक सामान्य लड़की की जैसी ही थी, उसे किसी प्रकार की कोई समस्या नही थी। 


उस समय एक कहावत थी कि रात के समय चिंका (इमली का पेड़) के पेड़ के नीचे कभी नहीं जाना चाहिए, क्योंकि लोग कहते थे कि उस पेड़ पर राक्षस रहते हैं। खैर, किसी भी बच्चे को वहां जाने की इजाजत नहीं थी, लेकिन हिया बहादुर थी और उसे इस बात पर विश्वास नहीं था, वह एक रात मौका पाकर एक इमली के पेड़ के पास चली गई। और फिर, कुछ देर बाद वह चुपचाप घर वापस चली आई और किसी से भी बात किये बिना, रात का खाना खाए बगैर सो गई।


अगले सुबह उठ कर बिलकुल खामोश सी वह स्कूल चली गयी, वहां स्कूल में भी वह कुछ अजीब व्यहवार और अभिनय कर रही थी। वह वहां दुसरे बच्चों को ठेडे-मेडे चेहरे बना कर आँखें दिखा कर अजीब अजीब आवाजें निकाल कर डराने की कोशिश करने लगी। 


वह घर हो या स्कूल या बाहर बहुत ही अजीब तरह से पेश आने लगी | रात भर जागी रहती, दरवाजे पर जाकर अपना सर पटकती |  अचानक चिलाने लगती फिर तुरंत ही रोने लगती |  उसके इन सभी कार्यों को देख के उसके माता पिता परेशान रहने लगे | फिर उसका इलाज करवाने हॉस्पिटल लेकर गये| लेकिन इससे भी कुछ फायदा नही हुआ| कुछ ही दिनों में उसका हालत और बिगड़ गया अब तो वह कही भी कभी भी बेहोश हो जाती| 


आसपास के लोगों ने उसके माता पिता को ओझा गुनी को दिखने को कहा, आखिर में तंग आकर उसके माता और पिता ने यह भी करके देखने का सोचा| उन्होंने वहां के बहुत बड़े पुजारी ( हिंदी में एक तंत्री व्यक्ति) को सब कुछ बताया।

उन्होंने अनुमान लगाया की कोई दानव ने उसे अपने वश में कर लिया है।


फिर एक रात, पुजारी ने उसके माता-पिता को बुलाया और उन्हें एक मैदान में हिया को लाने के लिए कहा। वहाँ, पुजारी ने एक बड़ा घेरा बनाया और उसे घेरे के अंदर रखा। फिर उसने कुछ मंत्रोउच्चारण किया और एक छड़ी ली और उससे हिया को बहुत बुरी तरह से पीटना शुरू कर दिया! 


लेकिन अजीब बात यह थी की उतनी जोर की पिटाई के बाद भी हिया को चोट नहीं लगी, लेकिन उसके अंदर का दानव चोटिल हो गया! फिर काफी मंत्रो उच्चारण और पूजा पाठ के बाद धीरे-धीरे, वह राक्षस हिया के शरीर को चोर के चला गया। उसके बाद, हिया को कुछ भी याद नहीं था कि उसके साथ क्या हुआ था जब दानव उसके अंदर था। 


इस घटना के बाद वह फिर से एक सामान्य लड़की बन गई और अपना जीवन व्यतीत करने लगी। मुझे नहीं पता उसे क्या हुआ था। मेरे पिता ने मुझे बताया कि यह कहानी सच है! यहाँ तक कि मेरी माँ को भी इस कहानी के बारे में पता था इसलिए यह सच ही रहा होगा। 


धन्यवाद और आशा है कि आपको मेरी कहानी पसंद आई होगी। मुझे आपकी टिप्पणियों का इंतजार है।


🕀🕀🕀🕀🕀

👻💀🕱💀☠

.....

..... Ped Ka Danav Hindi Story .....

Team Hindi Horror Stories

No comments:

Powered by Blogger.