हमारा भूताहा घर | Real Bhootaha Ghar Hindi Horror story 2021


hindi-horror-story-2021-Humara-Bhootaha-Ghar-New-Kahani-real
Real Bhootaha Ghar Kahani Story New in Hindi 2021

New Hindi Horror story 2021: Humara Bhootaha Ghar 
न्यू हिंदी हॉरर स्टोरी 2021: हमारा भूताहा घर

ब मैं 12वीं कक्षा में था, हमलोग (मैं और मेरा परिवार)  कैलिफ़ोर्निया के साइप्रस में एक घर में रहने लगे। वैसे तो यह घर बाहर से देखने पर उस ब्लॉक के बाकि घर की तरह ही दिखता था, लेकिन अंदर से इसका डिजाईन कुछ अलग था। इस घर के पुराने मालिक द्वारा ऊपर के लेआउट को बदल दिया गया था और  निचे के 4 बेडरूम वाले फ्लोर को एक बड़े  हॉल में बदल दिया गया था और ऊपर का फ्लोर पहले जैसा ही था। लेकिन उस घर में लंबे समय से कुछ और ही था, जिससे केवल हम बच्चों को ही सामना करना पड़ता था, क्यूंक हमारी बातों पर कोई विश्वाश ही नही करता था।

पहले दिन जैसे ही हम अंदर गए, हमने एक मसाला रैक देखा जो काउंटर के पीछे था, वह पूरा का पूरा रैक खुद ही फिसल कर गिर गया और फर्श पर पूरा मसाला बिखर गया। हमारे माता-पिता ने हम पर विश्वास नहीं किया, और जब हमने उन्हें बताया, तो उन्होंने सोचा कि हम में से किसी ने ही यह किया है। लेकिन जैसे-जैसे सप्ताह बीतते गए, चीजें बढती गयी।


रसोई में लगी घड़ी समय-समय पर दीवार से गिर जाया करती थी और हमेशा 3 फीट दूर रखे रेफ्रिजरेटर पर ही लैंड करती थी, कभी भी यह जमीन से नहीं टकराती थी। टीवी और स्टीरियो सिस्टम खुद ब खुद स्टार्ट हो जाते और उनपर बहुत ही अजीब सा चैनल लग जाया करता था, जिसपर इमेज नही होती थी। सप्ताह में तीन से चार बार हमें घर के पूर्व दिशा से बहुत ही अजीब सी आवाजें सुनाई देती थीं, और उस तरफ न तो कोई झाड़ियां थी और न ही कोई पेड़। 

मेरी छोटी बहन और मैं अक्सर किसी को ऊपर की कोठरी में इधर-उधर घूमते हुए सुनते थे। हमने ये सारी बातें अपने माता -पिता को बताया, हालांकि उन्होंने सोचा कि यह सिर्फ हमारी कोरी कल्पनाएं है।


मेरी बहन किना और मैं, मेरी दो अन्य बहनों के साथ, एक रात (घर के पूर्व की ओर था) उस हिस्से में हम टीवी देख रहे थे तभी दूसरी तरफ से कुछ आवाजें आना शुरू हो गया यह वही जगह था जहाँ मेरी अन्य दो बहनों के बिस्तर थे। उन्होंने जा कर यह देखने का फैसला किया कि वहां आखिर हो क्या रहा है और जैसे ही वे सीढ़ियों के कोने से घूमी, तभी यह घटना घटा।


किना को खिड़की के बाहर से एक आवाज पुकार रही थी, एक कर्कश फुसफुसाहट में, उस आवाज ने उसका नाम बार-बार पुकारा। मैं वह आवाज सुनने से पहले ही सीढ़ियों से नीचे जा चूका था, उसके बाद मेरी अन्य दो बहनें भी मेरे पीछे दौड़ कर आ गयी थी किना वहां अकेली थी और हम जैसे ही उस रूम में पहुंचे, (जहाँ से टीवी देखते टाइम आवाज आ रहा था) वह आवाज आना बंद हो गया।


हम दौड़कर अपने पिताजी के पास गए और जो कुछ हुआ उन्हें बता दिया, यह सुनने के बाद उन्होंने इसे देखने जाने का फैसला किया। हम उनके पीछे-पीछे खिड़की तक की सीढ़ियाँ चढ़े, हम सब एक साथ ही चल रहे थे, की हमने देखा की किना वहां सीढ़ि के पास बेहोश पड़ी है, और वहां एकदम सनाटा पसरा था। 

हमने देखा की खिड़की पर बाहर की तरफ दो हाथ के निशान थे और छत के बीम से लटका एक फंदा था। मेरे पिताजी को लगा कि किसी ने अंदर घुसने की कोशिश की है और पुलिस को फोन किया।

जब पुलिस घर पहुंची, घर और आसपास के इलाके की जांच की, तो उन्हें कुछ नहीं मिला। उन्होंने मेरे पिताजी से कहा कि घर के उस तरफ बाहर से कोई नहीं आ सकता, केवल अंदर से ही यह सब संभव था। 

तभी उन्होंने मेरे पिताजी को सालों पहले घर में घटे घटना के बारे में बताया। हमें ऐसा बताया गया कि जिस से हमने वह घर ख़रीदा था, उसके पहले के कोई एक मालिक की एक किशोर बेटी थी। एक दिन उनकी बेटी का शरीर उसी खिड़की से एक फंदे से झूल रहा था, और खिड़की के बाहर दो हाथ के निशान थे। मेरे पिताजी को बस इतना ही सुनना था। 

हम उस हफ्ते शहर से बाहर घुमने चले गए, यह महसूस करते हुए कि किसी कारण से वह लड़की की आत्मा अभी भी वहीं थी हमारे घर में और उस घर में उसे कोई और बच्चा नहीं पसंद था।

मैं समय-समय पर उस खिड़की के पास जाता था और हमेशा उसका वहां होना महसूस कर सकता था मुझे ऐसा लगता था जैसे की वह मुझे देख रही हो। और आज तक जब भी खिड़की के बाहर कुछ सुनता हूं तो देखने में झिझकता हूं, डर के मारे कहीं वह मुझे दिखाई न दे जाये।


🕀🕀🕀🕀🕀

👻💀🕱💀☠

.....

..... Humara Bhootaha Ghar New Hindi Horror story 2021 .....

Team Hindi Horror Stories

No comments:

Powered by Blogger.