London Ke Saint George Hospital Ka Bhoot: ग्रे लेडी नर्स


Grey-Lady-Nurse-Ka-bhoot-saint-George-hospital-ka-bhoot-london-ke-saint-George-hospital-ka-bhoot-grey-lady-ke-ghost-ki-kahani-grey-lady-ghost-hindi-kahani-london-hospital-ka-bhoot
Grey Lady Nurse Ka bhoot,


London Ke Saint George Hospital Ka Bhoot: Grey Lady Nurse
लंदन के सेंट जार्ज अस्पताल का भूत: ग्रे लेडी नर्स 

सेंट जार्ज अस्पताल, बकिंघम पैलेस के निकट, लंदन अस्पताल ढाई सौ वर्ष पुराना है।

शांत, ठंडी और धुंधली रात थी। अपनी मरीजों की सेवा में व्यस्त थी एक नर्स। नाम था जूडिश । एक बुजुर्ग मरीज के पेट  में ट्यूब लगी थी। तभी उसे याद आया कि वह ट्यूब के साथ सर्जिकल टेप लगाना तो भूल ही गई है। उसने ट्यूब लगाई और मरीज को ट्यूब पकड़ने को कहा, ताकि वह मेडिकल स्टोर से टेप ले आए।


कुछ मिनटों पश्चात् वह दौड़ी-दौड़ी आई, तो चकित रह गई। ट्यूब पर टेप लग चुकी थी और ट्यूब मेडिकल ढंग से पेट में फिट भी कर दी गई थी। उसने मरीज से जानना चाहा कि कैसे हुआ? क्योंकि उस समय वहां वह अकेली ड्यूटी नर्स थी।


मरीज बोली-'एक सुंदर नर्स आई थी सलेटी पोशाक में। उसी ने टेप लगाई और ट्यूब फिट कर दी।' यही नहीं, सलेटी पोशाक में आई नर्स ने मरीज को तसल्ला दी और फिक्र न करने को कहा।


गौरतलब है कि जूडिश नामक नर्स, उस शाम अस्पताल में, पहली मंजिल के मरीजों की अकेले इंचार्ज थी। इस घटना से, जूडिश ने सबक लिया और सारा मेडिकल साज-सामान साथ रखकर ही मरीज की चिकित्सा करने का व्रत लिया।


असल में सदियों पूर्व अस्पताल में एक नर्स थी विक्टोरिया । एक दिन वह ड्यूटी पर थी। घुमावदार सीढ़ियों से उतरते-उतरते पैर फिसल गया और एकदम नीचे पत्थर के फर्श पर जा गिरी। उसी जगह उसकी मृत्यु हो गयी। वह मरकर भी नहीं मरी। तब से अब तक उसे 'ग्रे लेडी नर्स' के नाम से जाना जाता है। उसका भूत अक्सर अस्पताल में ही देखा जा सकता है-लम्बी सलेटी पोशाक, सिर पर सफेद टोपी और एक आकर्षण मुस्कान।


अस्पताल की घुमावदार सीढ़ियां अस्पताल के पिछवाड़े में है। इससे डॉक्टरों के कक्ष, मेडिकल स्टोर और मरीजों के वार्डो तक पहुंचा जा सकता है। सन् 1950 के दशक में भी घुमावदार सीढ़ियों का इस्तेमाल होता रहा है।


सेंट जार्ज अस्पताल में एक और भूतहा हादसा भी बार-बार होता रहा है। बताते हैं कि सन् 1930 में, अस्पताल के ड्यूटी रूम में ही कई वर्षों से कार्यरत बायो केमिस्ट की मृत्यु हो गयी। उसका ड्यूटी रूम मरीजों के वार्ड और घुमावदार सीढ़ियों के बगल में था।

 प्रायः मरीज ही प्रातः नर्स से पूछते थे कि सुबह वार्ड में कौन खांस रहा था? इतनी ऊंची आवाज में खांस रहा था कि उनकी नींद उखड़ गई। अस्पताल के कर्मचारी की मृत्यु के 20 वर्ष पश्चात् ऐसे भूतहा आवाजें रोज-रोज उभरती रहीं।

वैसे, सन् 1950 के बाद से सेंट जार्ज अस्पताल अपने पुराने जगह से हटकर, हैडे पार्क के नए परिसर में चला गया है। अस्पताल की पुरानी इमारत में आज होटल है। गत वर्ष सन् 2003 में, नर्स जूडिश होटल रेस्तरां में उत्सुकतावश शाम चाय पीने गई। दरअसल, वह जानना चाहती थी कि क्या 'ग्रे लेडी नर्स' और 'बायोकेमिस्ट' के भूत आज भी इसी इमारत में हैं या अस्पताल के नए परिसर में चले गए हैं? इतने वर्षों के बाद भी जूडिश पर भय इस कदर हावी था कि वह इमारत के पीछे घुमावदार सीढ़ियां हैं या नहीं, यह देखने की हिम्मत नहीं कर पाई।



💀🕱🕱🕱🕱🕱💀

✒️✒️✒️✒️✒️

.....

..... London Ke Saint George Hospital Ka Bhoot [ Ends Here ] .....

Team Hindi Horror Stories


No comments:

Powered by Blogger.