Stories Of Bhoot in Hindi: tHe pHoTo

Stories Of Bhoot in Hindi: tHe pHoTo

Stories Of Bhoot in Hindi का अंश: मेरी बहन ने अपना स्मार्ट फ़ोन निकाल लिया और उगते सूरज की तस्वीरें लेना शुरू कर दिया, जहाँ हम खड़े थे वहां से सूरज को देख पाना थोड़ा मुस्किल था। अचानक मैंने दो तेज आवाज सुनी और कुछ बंदरों को छत पर भागते हुए देखा...

Real Short Indian Bhoot Kahani: Dar Da Da Dase को पढ़ने के लिए इस लिंक पर क्लिक करें

....दोस्तों इस डरावनी कहानी | Indian Short Stories Of Bhoot in Hindi 2020 को लास्ट तक जरुर पढ़ें क्यूंकि यह एक बहुत इंट्रेस्टिंग और सच्ची डरावनी भूत प्रेत की स्टोरी है | अइ होप की आपको यह Short Indian Horror Kahani 2019 जुरूर पसंद आएगा |

Stories Of Bhoot in Hindi, Stories Of Bhoot, Story Of Bhoot, real Stories Of Bhoot, stories of ghost, hindi stories of bhoot, Short Story Of Bhoot, Story Of Bhoot india,
Stories Of Bhoot in Hindi


Stories Of Bhoot in Hindi: tHE pHoTo

लगभग दो साल पहले, मैं अपने परिवार के साथ छुट्टी मनाने कसौली गया था। कसौली भारत के हिमाचल प्रदेश का एक हिल स्टेशन है।

कसौली, हिल स्टेशन के साथ-साथ विशेष रूप से भूतिया होने के लिए भी प्रसिद्ध है, इसलिए स्वाभाविक रूप से जब हमने वहां जाने का फैसला किया तो मैं किसी तरह के भूतिया अनुभव होने को लेकर उत्साहित था।

हमारी यात्रा छोटी और अच्छी होने वाली थी और हमें वहाँ 3 रात रुकना था।

हमने कसौली क्लब में 2 शैले (लकड़ी के घर या कॉटेज) बुक किए थे जो वर्ष 1880 में बनाए गए थे, और उनमे 2001 में एक भयानक दुर्घटना हुई थी, जिसमें पूरी जगह जलकर राख हो गई थी।

हालांकि इसका जल जाना वास्तव में दुखी करने वाला था, फिर भी मैं, यहाँ-वहाँ कुछ परछाई या भूतों की आवाज सुनने को लेकर उत्साहित था।

Indian Bhoot Story Hindi: Paranormal Travelling को पढ़ने के लिए इस लिंक पर क्लिक करें


वहां हमारा रुकना बेहद आरामदायक था, सिर्फ सुबह में बेतरतीब ढंग से बंदरों का छत पर कूदना / छत पर दौड़ना और आवारा कुत्तों का भौंकना छोड़ के।

मैं अपनी पिछली रात को लेकर काफी निराश था, लेकिन मन ही मन मुझे राहत भी मिली कि मुझे कुछ अजीब देखने को नही मिला।

हमने सनराइज का पिक क्लिक करने के लिए नेक्स्ट मोर्निंग जल्दी उठने का प्लान किया।

अगली मोर्निंग एक दम सुबह के समय, पापा हमें जगाने के लिए हमारे शैले में आए।

मैं और मेरी बहन बिस्तर से बाहर निकल गये और रेडी होकर अपने आप को शॉल में लपेट कर बर्फीले हवाओं में बाहर चले गए।

Famous Indian Story of Bhoot: Ghost's Jeep को पढ़ने के लिए इस लिंक पर क्लिक करें

मैं अपने मम्मी और भाई को ढलान वाली सड़क में सबसे आगे निकलते हुए देख सकता था, जबकि पापा अपना DSLR इस्तेमाल करने के लिए तैयार थे।

मैं अपने शैले के दरवाजे के पास ही खड़ा रहा, जबकि मेरी बहन हमारी कॉटेज के पीछे ही छोटे से जंगल की ओर जाने लगी।

मेरी बहन ने अपना स्मार्ट फ़ोन निकाल लिया और उगते सूरज की तस्वीरें लेना शुरू कर दिया, जहाँ हम खड़े थे वहां से सूरज को देख पाना थोड़ा मुस्किल था।

मैं सिर्फ चीड़ के पेड़ों को देख पा रहा था जो सूरज को ढंके हुए थे, जबकि मैं उसी दिशा में उसके फोन के कैमरे से लिए गए कई शॉट्स के आवाज सुन सकता था।

अचानक मैंने दो तेज आवाज सुनी और कुछ बंदरों को छत पर भागते हुए देखा।

मेरी बहन जो मुझसे कुछ दूर खड़ी थी, वह भी इस आवाज के कुछ सेकंड बाद मुड़ी और बोली,

"चलो वापस चलते हैं"।

अभी आप पढ़ रहे हैं  Real Indian Hindi Stories of Bhoot  


मुझे लगा कि वह बंदरों से डर गई और जल्दी से वापस शैले में चली गई।

जब वह अंदर गई, तो वह थोड़ी डरी हुई दिखी, तो मैंने उससे पूछा,

"क्या तुमने वह सुना?"

उसने कहा, "हाँ, लेकिन मुझे तुमको कुछ बताना है"

उसको सुन नर्वस और उत्साहित टोन में मैंने पूछा, "क्या हुआ? बताओ?"

"जब हम यहाँ से बाहर जायेंगे तभी मैं तुमको बताउंगी" उसने गंभीरता से कहा।

मैंने उसे बात बताने के लिए मजबूर नहीं किया और धैर्यपूर्वक 2 घंटे इंतजार किया, जब हम होटल चेक आउट कर निकल आये।

Short Story Of Bhoot: Boy in Campus को पढ़ने के लिए इस लिंक पर क्लिक करें


"कसौली से बाहर निकालने के बाद मैंने उससे पूछा," वहाँ क्या हुआ था?

उसने कहा, "मैंने तस्वीर में कुछ देखा है, मुझे फिर से चेक करने दो"

मैं अपनी त्वचा पर उभरे हुए रोंगटे को महसूस कर सकती थी, इतना कहते हुए उसने अपना फोन निकाला और अपनी गैलरी से देखा, "हाँ, यह वहाँ है" उसने एक तीखे मुस्कान के साथ कहा और फोन मुझे दे दिया।

मैं उसे उलझन भरी नज़र से देखता रहा जब मैंने उसका फोन पकड़ा।

मैंने तस्वीर को देखा और यह वहाँ था; कसौली जाने से पहले मेरी  उत्साह का कारण और अब मेरे डर का कारण।

जंगल की गहरी नीली बैकग्राउंड और सूरज की हल्की सी रौशनी में, जहाँ हम थे, वहाँ से लगभग 10 फीट दूर एक महिला की ठोस सफेद आकृति दिखाई दे रही थी।

..... Stories Of Bhoot in Hindi Ends Here .....


Team Hindi Horror Stories:

दोस्तों आपको ये Indian Stories Of Bhoot in Hindi: tHE pHoTo कैसा लगा ये कमेंट में बताये | यदि आप इस तरह के Famous Indian Bhoot Stories Hindi  | Indian bhoot Tales | Hindi Bhoot Pret Kahaniya या Bhoot Pret story in Hindi का animated विडियो देखना चाहते हैं, तो निचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें | यदि आप ऐसे ही और इंडियन घोस्ट स्टोरीज या Story in Hindi Horror देखना चाहते है तो -  Dating Ghosts (click here) youtube channel को subscribe कर लें ताकि मैं आपके लिए और भी ऐसे ही Scary Stories in Hindi लेकर आ सकूँ|

Dating Ghosts | Hindi Horror Stories | Horror Stories In Hindi | real horror incidents in hindi, Bhoot Story In Hindi, horror short story in hindi, real bhoot story hindi, bhoot pret ki kahani, bhoot story, sacchi bhutiya kahani, daravni kahani, pret katha, bhut katha,
Please Subscribe Dating Ghost Channel Through This Link For More  Indian Short Stories Of Bhoot in Hindi 2020 


दोस्तों आपके पास भी कोई  Real Indian Bhoot Stories, Real Life Bhoot Story In Hindi, Bhoot Stories in Hindi, रियल घोस्ट स्टोरीज इन इंडिया इन हिंदी | रीडिंग हॉरर स्टोरी | रियल हॉरर स्टोरी हिंदी है तो हमारे साथ शेयर करें और ऐसे  ही रोचक,  
Hindi Horror Stories पढ़ने के लिए सब्सक्राइब करें  हमारे  Newsletter section को, धन्यवाद् |


0 Response to "Stories Of Bhoot in Hindi: tHe pHoTo"

Post a Comment